Author

कवयित्री शशि की नई कविता – कंप्यूटर

Posted by on Jan 1, 2022 in Author | 0 comments

कवयित्री  शशि की नई कविता  – कंप्यूटर

कवयित्री :  शशि

_____

”  कंप्यूटर  ”

____

एक दिन हमारे परम मित्र बोले

कंप्यूटर का बटन दबाओ

जो चाहो सो पाओ

आव देखा न ताव

कंप्यूटर का बटन दबाया

हम बोले महात्मा गांधी के बारे में कुछ बताओ,

कंप्यूटर बोला,

वे बड़े ही खूंखार थे,

उनके पास चीनी हथियार थे,

नाश्ते में सिर्फ़ अंडे खाते थे,

आधा मुर्गा कच्चा चबाते थे,

हमने कहा शर्म नहीं आती,

राष्ट्रपिता के नाम पर कलंक लगाते हुए,

कंप्यूटर बोला प्यारे,

तुम्हें शर्म नहीं आती,

महात्मा गांधी की जगह

चंगेज खां का बटन दबाते।

सौजन्य से :

अरुण शक्ति

मैनेजिंग डायरेक्टर

एमको म्यूजिक प्राइवेट लिमिटेड

      

कवयित्री  शशि की नई कविता  – कंप्यूटर

Read More

Coffee Table Book On Sandeep Marwah Released At 14th Global Film Festival

Posted by on Dec 13, 2021 in Author | 0 comments

Coffee Table Book On Sandeep Marwah Released At 14th Global Film Festival

Noida: A coffee Table Book on renowned film, television and media personality Dr. Sandeep Marwah, President of Marwah Studios, was released on the first day of 14th Global Film Festival Noida 2021 by the most distinguished in the presence of large audience from all over the World.

H.E. Muhamed Cengic Ambassador of Bosnia & Herzegovina to India, Cdr. K L Ganju Hon. Consul Gen, Republic Union of Comoros in India, H.E. Kamlesh Shashi Prakash High Commissioner of Fiji to India, H.E. Nurlan Zhalgasbayev Ambassador of Kazakhstan to India, H.E. Asein Isaev Ambassador of Kyrgyzstan, HE Andrey Rzheussky Ambassador of Belarus to India, H.E. Lucmon Bobokalazoda Ambassador of Tajikistan to India together released the book.

T. P. Aggarwal President Film Federation of India-the Apex body of cinema in the country, Daisy Shah renowned actor known for her role with Salman khan in Jai Ho and Race 3, Hate Story 3 etc. ,  Popular Film Director Jayant Gilator known for his films like Chalk & Duster and Gujrat 11,  Supran Sen Secretary General of Film Federation of India and Film Director Ashok Tyagi Secretary General of International Chamber of Media and Entertainment Industry were also present on the book release.

“I am touched by the words used by my friends and associates in this book. This book is a surprise for me. I thankful to everyone for their cooperation during all these years of my growth,” said Sandeep Marwah.

Every guest had something good to speak about this international media personality. The book has been assimilation of write ups of different professionals who have dealt with Sandeep Marwah in all these years. It has been complied by Sushil Bharti and published by Star publication.

   

Coffee Table Book On Sandeep Marwah Released At 14th Global Film Festival

Read More

Diary Of Angel & Ginie A Book By The youngest co-authors Blessed by The CM of Madhya Pradesh Shri Shivraj Singh Chouhan

Posted by on Dec 5, 2021 in Author | 0 comments

Diary Of Angel & Ginie A Book By The youngest co-authors Blessed by The CM of Madhya Pradesh Shri Shivraj Singh Chouhan

The book, Diary of Angel and Ginie is their debut at the  tender age of 10 and 8 years & now called as the youngest co-authors .

The book, Diary of Angel and Ginie is a compilation of stories that these girls have written. The best part about the stories is that each story has a value added in it. In a generation where kids are obsessed with mobile games and Youtube, Saanvi and Riddhima have taken time out to observe people around them and feel their feelings.

In their stories, you will find respect for elders, you will feel love for the society and you will experience their thought process towards their friends, their teachers and their family.

We feel that such stories seek to bring about moral values and store them in a child’s sub conscious. Realization of these values brings about harmony, happiness and peace, which are miserably lacking in the modern times.

The Chief Minister of Madhya Pradesh Shri Shivraj Singh Chouhan blessed the both kids for their success in their  life and all the best for the book.

   

Diary Of Angel & Ginie  A Book  By co-authors Saanvi Shrivastava – Riddhima Shrivastava

 

Read More

Poet Shashi – Her Latest Hindi Poems And Introduction

Posted by on Oct 2, 2021 in Author | 0 comments

Poet Shashi – Her Latest Hindi Poems And Introduction

कवयित्री शशि – परिचय

शशि एक बहुत ही योग्य कवयित्री होने के साथ साथ गीतकार एवं  कहानीकार ( लेखिका)  हैं। जैसा कि हम सभी को विदित है कि हमारा  भारतवर्ष गांवों का देश है। ये बड़ी मेहनत एवं लगन से एमकाे म्यूज़िक प्रा. लि. कंपनी के लिए हिन्दी फ़िल्म की कहानी ग्रामीणों के जनजीवन के  विकासपूर्ण उद्देश्य से लिख रही हैं।

ग्रामीणों की तरक्की, समृद्धि एवं  उज्वल भविष्य हेतु अपनी कलम से यह फिल्म की कहानी देश को समर्पित करना चाहती हैं। आशा है कि निकटतम भविष्य में एमको म्यूज़िक कंपनी इस कहानी को हिन्दी फ़िल्म के जरिए देश एवं दुनियां को समर्पित करेगी।

कवयित्री: शशि

**   गणित  **

यह गणित बड़ा दुखदाई है

छात्र  छात्राओकी आफ़त आई है

स्कूल से जब घर जाते

दस बीस सवाल निकलते

मानो दिमाग में काई है

यह गणित बड़ा दुखदाई है

यह रखता है और भी शाखाएं

बीज गणित और रेखाएं

पर सब में है कठिनाई

यदि होता मेरा राज यहां

क्यों होता जग में गणित  भला

जग कहता यह बड़ा सुखदाई

मैं कहती यह बड़ा दुखदाई

कवयित्री :  शशि

**  नेक सलाह  **

खाना चाहते हो तो ” गम” खाओ

पीना चाहते हो तो ” क्रोध” पियो

पहनना चाहते हो तो ” नेकी” का जामा पहनो

 

देखना चाहते हो तो ऊंची निगाह से देखो

लेना चाहते हो तो सिर्फ़ आशीर्वाद लो

छोड़ना चाहते हो तो सिर्फ़ पाप और अत्याचार छोड़ो

 

रखना चाहते हो तो ” इज्ज़त” रखो

बोलना चाहो तो सदा ” सत्य” बोलो

जीतना चाहो तो ” तृष्णा” को जीतो

 

मारना चाहो तो बुरी इच्छा को मारो

देखना चाहो तो अपने आप को देखो

भोगना चाहो तो सन्तोष को भोगो

 

फेंकना चाहो तो ” ईर्ष्या” को फेंको

हारना चाहो तो ” अनीति” को हारो

दिखलाना चाहो तो दया दिखलाओ

 

करना चाहो तो समाजसेवा करो

सीखना चाहो तो अनुशासन सीखो

पढ़ना चाहो तो अच्छी पुस्तक पढ़ो

  

——सौजन्य से: अरुण शक्ति मैनेजिंग डायरेक्टर

——एमको म्यूजिक प्रा. लि. मोबाइल नम्बर: 9468467100

Read More

Even today the literary journey of Poojashree continues

Posted by on Sep 28, 2021 in Author | 0 comments

Even today the literary journey of Poojashree continues

आज भी साहित्यिक यात्रा जारी है साहित्य की मीरा पूजाश्री का

चर्चाओं के बीच : साहित्य की मीरा पूजाश्री

राजस्थान की तपती रेत को रौंद कर मायानगरी मुम्बई तक पहुंचने वाली लेखिका पूजाश्री अपने साहित्य में भारत की कला संस्कृति को सरंक्षित करते हुए फ़िलवक्त उसके प्रचार प्रसार में गतिशील हैं। हिंदी और राजस्थानी दोनों भाषाओं में 18 से अधिक पुस्तकों को सृजित करने वाली पूजाश्री का जन्म 29 मार्च 1951 को हुआ था। बचपन से ही विचारों को, भावनाओं को अपने शब्दों से स्वरूप प्रदान करने वाली पूजाश्री मास्टर ऑफ आर्ट्स में साहित्यरत्न हैं। हिंदी,संस्कृत,राजस्थानी,उर्दू और मराठी भाषा पर पूर्ण अधिकार रखती हैं। साथ ही साथ  आज के हिंदी साहित्य में सर्वोच्च स्थान रखती हैं। पूजाश्री निर्भीकता से अपनी लेखनी से समाज की कुरीतियों, नीतियों पर प्रहार करने से भी नहीं चूकतीं और अपनी साहित्यिक यात्रा जारी रखी हुई हैं।

‘पनघट'(काव्य संग्रह), ‘रेखाएं'(काव्य संग्रह), ‘रेत है रातनालीअ'(राजस्थानी काव्य संग्रह), ‘ नारी यदि चाहे तो'(कहानी संग्रह), ‘मेरे आराध्य'(भक्ति काव्य संग्रह), ‘देश मेरे'(देश भक्ति गीत), ‘राम कथा और तुलसीदास'(गद्य व पद्य), ‘प्रणय पराग'(काव्य संग्रह), ‘छद्मवेश’, ‘ओलख रा उजियारा'(राजस्थानी कहानी संग्रह), ‘शुभ मंगल'(राजस्थानी काव्य संग्रह), ‘तिश्नगी’ (नज़्म संग्रह), ‘रोसनी री सुई'(राजस्थानी कविता संग्रह), ‘ज़िंदगानी री जोगण'(राजस्थानी कविता संग्रह), ‘अभिलाषा'(सरस अखंड काव्य), ‘मेलो'(राजस्थानी), ‘वंदे मातरम बाल साहित्य बाल साहित्य(राजस्थानी), ‘सत्यमेव जयते'(हिंदी), और ‘योग कवंल'(योग पर रचनाएं हिंदी) जैसी कई पुस्तकें पूजाश्री की, पाठकों तक पहुंच चुकी है। पूजाश्री की तीन अन्य पुस्तकें वर्तमान समय मे प्रकाशाधीन हैं।

पूजाश्री को उनकी लेखकीय गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए, मानस संगम(कानपुर) द्वारा साहित्य पुरुस्कार, राष्ट्रीय आत्मा स्मारक द्वारा श्रीमती जय देवी शुक्ला पुरुस्कार, राजस्थानी गीतों के लिए जनपदीय सम्मान और मानव कल्याण संघ(साहित्य लोक) प्रतापगढ़, उत्तरप्रदेश द्वारा सहित्यश्री पुरुस्कार, हम सब संस्था(ठाणे, महाराष्ट्र) द्वारा सार्वजनिक सम्मान, अखिल भारतीय सहियकार अभिनंदन समिति(मथुरा, उत्तरप्रदेश) द्वारा कवियत्री महादेवी वर्मा सम्मान, साहित्यकार सम्मेलन(उज्जैन) द्वारा सम्मान पत्र, महाराष्ट्र राज्य साहित्य अकादमी द्वारा मुंशी प्रेमचंद साहित्य पुरुस्कार, नारायणी साहित्य अकादमी (दिल्ली) द्वारा नारायणी सम्मान और कई तरह के परुस्कारों से नवाज़ा जा चुका है। देश विदेश के सभी मुख्य पत्र पत्रिकाओं में छप चुकी और अपनी प्रथम मंचीय रचना मुम्बई की धरती पर पढ़ने वाली और साहित्य की मीरा के नाम से ख्याति प्राप्त लेखिका पूजाश्री हिंदी साहित्य की वर्तमान दशा को देख कर काफी व्यथित व विचलित नज़र आती हैं। पूजाश्री ने साहित्य के माध्यम से सेवा समर्पण सहयोग सदभावना युक्त संदेश लोगों तक पहुंचने के लिए बहुत संघर्ष किया और उनका संघर्ष आज भी जारी है।

बकौल पूजाश्री आज अंग्रेजी का बोलबाला है। नई पीढ़ी अंग्रेजी माध्यम से पढ़ कर निकाल रही है….वैसे आज के दौर में हिंदी साहित्य पाठ्यक्रमों से बाहर निकलता प्रतीत होता है…ये शुभ संकेत नहीं है। मैं अपना समय ज़िन्दगी सबकुछ साहित्य को अर्पण कर चुकी हूँ। मेरी इच्छा है कि संदेशपरक साहित्य पाठकों तक पहुंचे। जिसका घोर अभाव आज के दौर में दिखाई देता है…

  

फिर भी अंतिम समय तक मैं साहित्य के माध्यम से समाज की सेवा करती रहूँगी ।

प्रस्तुति : काली दास पाण्डेय

Read More

Poet Shashi’s New Poem MANAV KRODH Published by Amco Music

Posted by on Jul 14, 2021 in Author | 0 comments

Poet Shashi’s  New Poem MANAV KRODH  Published by Amco Music

कवयित्री:  शशि

मानव क्रोध

आता है जब क्रोध, लाल चेहरे को कर देता है,

नेत्र आग बरसाते हैं, बुद्धि को हर लेता है,

समय, धर्म, धन का विनाश कर, पाप वृद्धि करता है,

क्रोध महाराक्षस, मानव की समूल शान्ति हरता है।

 

रक्त विकृत हो जाता है, खाया पानी बन जाता है,

आते रोग अनेक, क्षीण मन दुख से भर जाता है,

न कहने योग्य शब्द, मुख से झरने लगते हैं,

अगले के मानस, पीड़ाओं से भरने लगते हैं।

 

क्रोध बढ़ाता बैर, स्वजन को कर देता परजन है,

भय का वातावरण, बनाकर पीड़ित करता मन है,

छोटी छोटी बातों में भी, क्रोध नहीं अच्छा है,

करके क्रोध जीत नहीं सकते, जो छोटा बच्चा है।

 

क्रोध पशुत्व स्वभाव,  विवशता की दुर्लभ बेड़ी है,

जिसने सम्यक समझ लिया, उसने इसको तोड़ी है।

एमको म्यूजिक व अरुण शक्ति के सौजन्य से

  • •••••••••••••••••••
Read More